Swamitva Scheme 2021 | Property Card Yojana | Full Details in Hindi

नमस्कार दोस्तों आज हम आपको इस लेख के द्वारा प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के बारें में महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करने जा रहे है। जैसे का हम जानते है कि देश की बहुत बड़ी आबादी ग्रामीण क्षेत्र में निवास करती है और यह आबादी चकबंदी के समय निर्धारित किये गए रिहायशी क्षेत्र में (लाल डोरे) में रहती है। अब तक लाल डोरे के तहत आने वाली जमीन के स्वयं मालिक होने के किसी के पास कागजात नहीं होते थे।

इसमें सिर्फ एक तरह का कब्ज़ा होता था। लेकिन स्वामित्व योजना के तहत अब लाल डोरे को समाप्त किया जा रहा है। अब ग्रामीण क्षेत्र के लोग अपने घर के क़ानूनी रूप से मालिक होंगे। और इसके तहत मिलने सुविधाओं का लाभ ले सकेंगे। जरुरत पड़ने पर अब घर का मालिक अपने बैंक से लोन भी लेने के लिए सक्षम हो जायेंगे।

केंद्र सरकार द्वारा बहुत जल्द Swamitva Scheme को बिहार राज्य में भी लॉन्च करने का फैसला लिया है। स्वामित्व योजना को प्रधानमंत्री जी द्वारा 24 अप्रैल 2021 को ‘राष्ट्रीय पंचायत दिवस’ के अवसर पर बिहार में लॉन्च किया जायेगा और बिहार राज्य के ग्रामीण क्षेत्रो में निवास करने वाले लोगो को भी सरकार द्वारा उनकी ज़मीन के मालिकाना हक के लिए सम्पति कार्ड प्रदान किए जायेंगे।

swamitva scheme

प्रधानमंत्री ने पंचायती राज दिवस के अवसर पर देशवासियों को संबोधित करते हुए कहा कि हमारे देश की प्रगति और संस्कृति का नेतृत्व हमेशा से ही हमारे गाँवों ने ही किया है। इसीलिए आज देश अपनी हर नीति और हर प्रयास के केंद्र में गाँवों को रखकर आगे बढ़ रहा है।  पिछले साल जिन छह राज्यों में Swamitva Scheme की शुरुआत हुई थी वहां एक साल के भीतर ही इसका प्रभाव भी दिखने लगा है।

मोदी जी ने इस अवसर पर कहा कि Swamitva Scheme में ड्रोन से पूरे गांव का, संपत्तियों को सर्वे किया जाता है। जिनकी जो जमीन होती है उसे उनका प्रापर्टी कार्ड संपत्ति पत्र भी दिया जाता है। थोड़ी देर पहले ही पांच हजार गांवों में चार लाख से ज्यादा संपत्ति मालिकों को ई-प्रापर्टी कार्ड दिए गए हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा मेरा राज्यों को सुझाव है कि गांव के घरों के कागज बनने के बाद अगर कोई व्यक्ति बैंक लोन चाहता है तो ये सुनिश्चित किया जाए कि उसे बैंकों में अड़चन न आए। मैं बैंकों से भी अपील करूंगा कि वो प्राॅपर्टी कार्ड का एक फाॅर्मट बनाएं जो बैकों में लोन के लिए स्वीकार्य हो। हमारा प्रयास है कि आधुनिक भारत के गाँव समर्थ हों, आत्मनिर्भर हों।

गांवों बने कोरोना से देश की ढाल

प्रधानमंत्री ने इस मौके पर कहा कि एक साल पहले जब हम पंचायती राज दिवस के लिए मिले थे, तब पूरा देश कोरोना से मुकाबला कर रहा था। तब मैंने आप सभी से आग्रह किया था कि आप कोरोना को गांव में पहुंचने से रोकने में अपनी भूमिका निभाएं। आप सभी ने बड़ी कुशलता से, ना सिर्फ कोरोना को गांवों में पहुंचने से रोका, बल्कि गांव में जागरूकता पहुंचाने में भी बहुत बड़ी भूमिका निभाई।

प्रधानमंत्री जी ने कहा कि मुझे विश्वास है देश के सभी लोग ,गांव का नेतृत्व करने वाले वाले लोग गांव में कोरोना को रोकने में सफल होंगे व कोरोना को रोकने के लिए उत्तम तरीके से व्यवस्था भी करेंगे। जो भी गाइडलाइंस समय-समय पर जारी होती हैं उनका पूरा पालन गांव में हो, हमें ये सुनिश्चित करना होगा। इस बार तो हमारे पास वैक्सीन का एक सुरक्षा कवच है। इसलिए हमें सारी सावधानियों का पालन भी करना है ,और ये भी सुनिश्चित करना है कि गांव के हर एक व्यक्ति को वैक्सीन की दोनों डोज भी लगे।

देश के माननीय प्रधानमंत्री जी द्वारा सामाजिक-आर्थिक सशक्तिकरण और आत्मनिर्भर ग्रामीण भारत को बढ़ावा देने के लिए एक केन्द्रीय क्षेत्र की महत्वकांशी योजना के रूप में पिछले साल 24 अप्रैल 2020 को स्वामित्व योजना का शुभारम्भ किया गया था। स्वामित्व योजना के अंतर्गत गांवों का सर्वेक्षण और ग्रामीण क्षेत्रों में उन्नत तकनीक के साथ मानचित्रण किया जाता है। Swamitva Scheme में मानचित्रण और सर्वेक्षण की आधुनिक तकनीकी साधनों के इस्तेमाल से ग्रामीण भारत में तेजी से बदलाव की क्षमता है।

Table of Contents

स्वामित्व योजना क्या है ? (What is Swamitva Scheme?)

देश के प्रधानमंत्री द्वारा 24 अप्रैल 2020 को पंचायती राज दिवस के दिन शुरू की गई स्वामित्व योजना के अंतर्गत ग्राम पंचायत के सभी काम काज ऑनलाइन किये जायेंगे। अब सभी ग्रामीण अपने मोबाइल पर ग्राम विकास के कार्यो को देख सकेंगे। Swamitva Scheme के तहत ग्रामीण लोगों की संपत्ति का विवरण भी पूर्ण रूप से ऑनलाइन किया जायेगा। और ड्रोन के माध्यम से पुरे गांव की मैपिंग की जाएगी।

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना एक ऐसी योजना है जिसमे देश के ग्रामीण क्षेत्रो के लोगो को केंद्र सरकार द्वारा उनकी जमीन व मकानों का मालिकाना हक़ देने के लिए उन्हें सम्पति कार्ड का वितरण किया जा रहा है एक अकड़े के अनुसार देश में अभी तक ग्रामीण क्षेत्रो के लगभग 2.50 लाख लोगों को सम्पति कार्ड सरकार द्वारा प्रदान किये जा चुके है Swamitva Scheme का लाभ देश के अधिक से अधिक लोगो तक पहचानें के लिए हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंदर मोदी जी ने इसका विस्तार अन्य राज्यों में भी करने पर विचार कर रही है।

ड्रोन के माध्यम से मैपिंग करने के बाद गांव के नागरिक अपनी की रजिस्ट्री करवा सकेंगे। शुरूआती चरण में Swamitva Scheme देश के छः राज्यों में शुरू की गई है। इसके बाद इस सम्पूर्ण भारत में लागू किया जायेगा। वे छः राज्य इस प्रकार है – उत्तर प्रदेश , महाराष्ट्र , कर्नाटक , हरियाणा, मध्य प्रदेश और उत्तराखंड। योजना के आधार पर ही पंचायती राज दिवस मनाया जाएगा और उसमें पुरस्कार देने की घोषणा भी की जाएगी। यह पोर्टल ग्राम पंचायतों के विकास के लिए केंद्र सरकार की काफी मदद करेगा।

इसे पढ़े : नेशनल पेंशन योजना 

स्वामित्व योजना का उद्देश्य क्या है ? (What is the purpose of the swamitva scheme?)

कोरोना महामारी के बीच देश में प्रधानमंत्री ने पंचायती राज दिवस के लिए विडिओ कॉन्फ्रेसिंग के जरिये देश की जनता को सम्बोधित किया व Swamitva Scheme की शुरुआत की। जिसका मुख्य उद्देश्य देश की ग्रामीण जनता को उनकी रिहायशी जमीन का मालिकाना हक़ दिलाना है Swamitva Scheme के तहत इनकी जमीन जायदाद का विवरण ऑनलाइन किया जा रहा है। Swamitva Scheme के अंतर्गत जरुरी प्रक्रिया पूर्ण होने के बाद जमीन का मालिक इस पर लोन भी ले सकता है।

  • Swamitva Scheme का उद्देश्य संपत्ति सम्बन्धी विवादों और क़ानूनी मामलों को काम करना है
  • जीआईएस मानचित्रों का उपयोग करके उच्च गुणवत्ता वाली ग्राम पंचायत विकास योजन (जीपीडीपी ) तैयार करने में सहायता करना है।
  • सर्वेक्षण की अवसंरचना और जीआईएस नक्शो का निर्माण करना जिनका उपयोग किसी भी विभाग द्वारा अपने उपयोग के लिए किया जा सकता है।
  • संपत्ति कर का निर्धारण करना , जो उन सभी राज्यों में सीधे ग्राम पंचायतों को प्राप्त होगा जहाँ ये विकसित है या राज्यकोषागार को प्राप्त होगा।
  • ग्रामीण नियोजन के लिए सटीक भूमि अभिलेखो का निर्माण करना है।
  • ग्रामीण भारत के नागरिकों को ऋण और अन्य वित्तीय लाभ प्राप्त करने के लिए अपने संपत्ति को एक वित्तीय परिसंपत्ति के रूप में प्रयोग करने में सक्षम बनाते हुए उन्हें वित्तीय स्थिरता प्रदान करना है।

स्वामित्व योजना के लाभ क्या है ? (What is the benefit of the ownership scheme?)

स्वामित्व योजना के तहत ग्रामीण संपत्ति के नामांकन की प्रकिया को सरल किया जा रहा है। Swamitva Scheme के तहत गांव के रिहायशी क्षेत्र की मैपिंग की जायेगी। इसके बाद वहां के लोगो को आपत्ति दर्ज करने के लिए 15 से 40 दिनों का समय दिया जायेगा। आपत्तियों के निपटारे के बाद उन्हें जमीन का मालिकाना हक़ प्रदान किया जायेगा।

इससे गांव की रिहायशी भूमि के सत्यापन की प्रक्रिया में तेजी आएगी और यह प्रक्रिया ऑनलाइन माध्यम से की जाएगी इस कारण इसके माध्यम से भ्रष्टाचार को रोकने में भी सहायता मिलेगी। जमीन का मालिकाना हक़ मिलने के बाद उन्हें बैंक द्वारा मिलने वाले लोन की सुविधा भी मिलेगी। गांवों में जमीनों की ड्रोन के द्वारा मैपिंग की जाएगी देश के लगभग 6 राज्यों में इसकी शुरुआत हो चुकी है और सन 2024 तक इसको देश के हर गांव तक पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया है।

  • प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के अंतर्गत संबंध संपत्ति नामांकन की प्रक्रिया को सरल बनाना है।
  • स्वामित्व योजना के अंतर्गत ड्रोन के माध्यम से सभी गावों व खेतों का आधुनिक तकनीकों से मानचित्रण किया जायेगा।
  • इस से भूमि के सत्यापन प्रक्रिया में और तेजी व भ्रष्टाचार को रोकने में सहायता मिलेगी।
  • ग्राम पंचायत के तहत आने वाले परिवारों को लोन लेने की सुविधा का भी प्रावधान किया गया है।
  • ग्रामीण को अपनी संपत्ति का मालिकाना हक़ मिलने के बाद भूमि विवादों का निपटारा हो जायेगा।

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना प्रॉपर्टी कार्ड (Pradhan Mantri Swamitva Scheme Property Card)

जैसा कि हम जानते है अब तक ग्रामीण क्षेत्र में लाल डोरे के अंदर आने वाली जमीन का किसी के पास कोई सरकारी रिकॉर्ड नहीं था। इसी के मद्देनजर देश के प्रधानमंत्री द्वारा Swamitva Yojana शुरू की गई। इस योजना से गावो में जमीन से सम्बंधित चले आ रहे विवादों से भी छुटकारा मिलेगा। ग्रामीण क्षेत्र के लोगो को स्वामित्व योजना की प्रक्रिया के पूर्ण होने के बाद ग्रामीणों को हर तरह की संपत्ति की आईडी (पहचान पत्र) दी जाएगी।

स्वामित्व योजना में सरकारी संपत्ति भी शामिल की गई है । सरकारी विभागों की संपत्तियों का स्वामित्व भी पंचायतों तथा जिला परिषदों से अलग किया जाएगा, जिससे भविष्य में इस प्रकार की संपत्ति पर किसी तरह का आपसी विवाद न हो। Swamitva Scheme के तहत विवादास्पद संपत्ति की भी अलग श्रेणी बना कर चिन्हित किया जायेगा।

24 अप्रैल 2021 को पंचायती राज के मौके पर केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर जी ने यह भी बताया है कि प्रधानमंत्री नरेंदर मोदी जी बिहार में Swamitva Scheme को लॉन्च करने के साथ साथ आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, हरियाणा, महाराष्ट्र, उत्तराखंड, पंजाब, उत्तर-प्रदेश व राजस्थान के 5002 गांवों के लगभग 4.09 लाख ग्रामीण जमीन मालिकों को भूमि का Swamitva Certificate एवं E Property Card दिए जायेंगे।

स्वामित्व योजना के तहत ड्रोन मैपिंग की प्रक्रिया 

Pradhan Mantri Swamitva Yojana के तहत गावों का सर्वेक्षण करने के लिए आधुनिक तकनीकों के माध्यम से मानचित्रण किया जाता है। गावों का मानचित्रण करने के लिए कई चरण है। जीपीएस ड्रोन की मदद से एरिया कस निरीक्षण किया जाता है। और सफेदी के द्वारा पॉइंट्स मार्क किये जाते है एक ड्रोन के द्वारा किये गए इस सर्वे के माध्यम से गांव में बने हर घर की जियो टैगिंग की जाती है तथा प्रत्येक घर का क्षेत्रफल दर्ज किया जाता है।

क्षेत्रफल दर्ज करने के बाद प्रत्येक घर को अलग अलग यूनिक आईडी प्रदान की जाती है। जो की उस घर का स्थायी पता भी होता है। Swamitva Scheme की इस प्रक्रिया के पूर्ण होने के बाद से लाभार्थी का पूरा पता डिजिटल भी हो जाता है। पहले गांव के नागरिकों के पास लिखित दस्तावेज अर्थात क़ानूनी रूप से मालिक होने के प्रमाण नहीं होता था।  लेकिन प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के तहत अब राज्य सरकारों के द्वारा गांव के नागरिकों को लिखित दस्तावेज पर मालिकाना हक़ प्रदान किये जाएंगे।

  • Swamitva Scheme के तहत सर्वे की प्रक्रिया के के समय सम्बंधित ग्राम पंचायत के सदस्य, राजस्व विभाग के अधिकारी, जमीन मालिक तथा पुलिस की टीम मौजूद रहती है। जिससे कि ग्रामीणों की आपसी सहमति के पश्चात उनके द्वारा किये गए दावे की जमीन प्रदान की जा सके। इन सब के बाद दावें वाली जमीन पर निशानदेही की जाती है।
  • जमीन का मालिक सभी लगाकर अपने रिहायशी क्षेत्र की निशानदेही करता है इसके पश्चात ड्रोन के द्वारा उस एरिया के तस्वीर से खींची जाती है। इस प्रक्रिया को पुरे गांव में दोहराया जाता है। ड्रोन द्वारा नवीनतम तस्वीरें लेने के पश्चात कंप्यूटर की सहायता से जमीन का नक्शा तैयार किया जाता है। इस नक़्शे पर गांव में लाल डोरे के अंतर्गत आने वाले सभी घरों की बॉउंड्री व उनका नंबर दिया होता है। जिससे उस जमीन की पहचान करना आसान हो जाता है।
  • ड्रोन द्वारा मैप तैयार करने व नंबरिंग करने के बाद क्षेत्र के सम्बंधित ग्राम सचिव/सेक्रेटरी या अन्य तैनात अधिकारी के द्वारा ग्राम पंचायत के सदस्यों की मौजूदगी में ग्राम सभा की  मीटिंग बुलाई जाती है। जिसमे सभी ग्रामीणों को मैप की गई उनकी जमीन की जानकारी प्रदान की जाती है।
  • तैयार किये गए मैप और अन्य जमीन के आकड़े ठीक होने व ग्रामवाशी और जमीन के मालिक की सहमति के पश्चात उस जमीन की रजिस्ट्री की जाती है और उस जमीन से सम्बंधित व्यक्ति को उनका मालिकाना हक़ के कागजात / प्रॉपर्टी कार्ड प्रदान किया जाता है।

इसे पढ़े : भावान्तर भरपाई योजना 

स्वामित्व योजना आपत्ति दर्ज करने की समयावधि 

देश के सभीराज्यों में Swamitva Scheme के अंतरगत ग्रामीण लोगों को उनकी जमीन का प्रमाण पत्र देने के लक्ष्य को तेजी से पूरा करने के उद्देश्य से लगातार काम किया है सरकार के द्वारा जिन गावों का सर्वे कराया जाता है उन गावों के नागरिकों को पहले से इसकी सूचना दे दी जाती है। जिससे कि वहां के सभी लोग, जो गांव से बाहर हैं वे सर्वे वाले दिन गांव में उपस्थित हो सके। और अपनी जमीन की मैपिंग करवा सकें। जिससे की भूमि विवाद की समस्या से बचा जा सके।

ड्रोन के माध्यम से गांव का पूरा नक्शा तैयार किया जाता है। इसके पश्चात उन सभी नागरिकों को जिनके नाम पर जमीन है उनके नाम की जानकारी राजस्व विभाग के अधिकारीयों द्वारा ग्राम पंचायत के सदस्यों की मौजूदगी में पूरे गांव को दी जाती है।यदि कोई तैयार किये गए आकड़ों से सहमत नहीं है। किसी की जमीन की सही मैपिंग या उसमे मालिक का नाम सही नहीं है या कोई अन्य समस्या है तो जिन्हें अपनी आपत्ति दर्ज करानी होती है वह कम से कम 15 दिनों और अधिक से अधिक 30 दिनों के अंदर अपनी आपत्ति दर्ज करवा सकते है। आपत्तियां निम्न प्रकार की हो सकती है –

  • किसी व्यक्ति का नाम गलत हो। (स्वयं , पिता या पति का )
  • किसी को अपनी सीमाओं पर ऐतराज हो सकता है।
  • किसी व्यक्ति को अपनी ID No. पर आपत्ति हो सकती है यानि किसी सयुक्त परिवार को एक ID No. प्रदान किया गया हो और परिवार के सदस्य अलग अलग करवाना चाहते हो।
  • किसी व्यक्ति को संयुक्त परिवार की ID में शामिल न किया गया हों।
  • किसी व्यक्ति को अपने क्षेत्रफल पर भी ऐतराज हो सकता है।
  • किसी ID पर कब्ज़ा दो या दो से अधिक लोगो का हो और रिकॉर्ड में नाम एक का दर्ज हो गया हो।
  • किसी ID पर कब्ज़ा एक का हो और नाम दो का दर्ज हो गया हो।
  • अगर कोई विवाद सिविल कोर्ट में लंबित है या Deputed Stay है तो उस प्रॉपर्टी का ID No . देकर Deputy Property चलाया जा सकता है तथा निर्णय लेने के बाद उसका निपटारा किया जाए।

ग्राम सभा की मीटिंग के 30 दिनों के अंतराल में यदि सम्बंधित गांव से कोई भी आपत्ति नहीं आती है तो वहां के राजस्व विभाग के अधिकारियों द्वारा जमीन के कागजात जमीन के मालिक को प्रदान कर दिए जाते हैं। जिसके बाद वहां रह रहे लोगो को क़ानूनी रूप से जमीन का मालिक बना दिया जाता है और उन्हें इसके बाद Property Card प्रदान किया जाता है।

राज्य सरकारें आवश्यकता पड़ने पर ज़मीनों के मालिकाना हक दिलाने के लिए अपने कानून भी बना सकती है। हरियाणा राज्य सरकार द्वारा हाल ही यह कानून बनाया गया है कि Swamitva Scheme के तहत प्रॉपर्टी कार्ड देने की प्रक्रिया में जमीन की पूरी जवाबदेही सम्बंधित ग्राम पंचायत के द्वारा सुनिश्चित की जाएगी। इस स्थिति में यदि जमीन को लेकर कोई भी विवाद उत्पन्न होता है तो उस विवाद का निपटारा करने की जिम्मेदारी भी ग्राम पंचायत की होगी।

स्वामित्व योजना ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया 

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना देशभर के सभी गावों में चलायी जा रही है। इस योजना के अंतर्गत गांव के लाल डोरे के रहने वाले लोगो को उन्हें घर-जमीन का मालिकाना हक़ दिया जायेगा। शुरूआती चरण में यह Swamitva Scheme छः राज्यों में चलायी गई थी अब इस योजना को अन्य राज्यों में भी शुरू किया जा है। यदि आप भी Swamitva Scheme का लाभ लेने के लिए योग्य है तो निम्नलिखित विधि से इस के लिए आवेदन कर सकते है।

  • सबसे पहले आपको Swamitva Scheme की ऑफिसियल वेबसाइट https://svamitva.nic.in पर जाना होगा।
  • यहाँ आने के बाद आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुलेगा। यहां आपको नई रजिस्ट्रेशन का ऑप्शन दिखाई देगा इस पर क्लिक करें।
  • न्यू रजिस्ट्रेशन के ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक फॉर्म खुल जाएगा।
  • इसमें आप से जो भी जानकारी मांगी गई है उसे बड़े ध्यानपूर्वक भरना होगा।
  • आपसे मांगी गई जानकारी भरने के बाद सबमिट का बटन दबाना होगा।
  • इन सब के बाद अब आपका फॉर्म सफलतापूर्वक भर गया है आपके रजिस्ट्रेशन से संबंधित कोई भी जानकारी आपके मोबाइल नंबर पर SMS या ईमेल आईडी द्वारा भेज दी जाएगी।

इसे पढ़े : मेरी फसल-मेरा ब्यौरा योजना 

स्वामित्व योजना पोर्टल पर लॉगिन की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको Swamitva Scheme की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा।
  • यहाँ आने के बाद आपको आपको दाएं ओर Login का ऑप्शन दिखाई देगा। इस पर क्लिक करें।
  • लॉगिन ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद अब आपके सामने लॉगिन का फॉर्म ओपन होगा।

swamitva scheme login

  • लॉगिन फॉर्म में अपना मोबाइल नंबर, पासवर्ड और कॅप्टचा कोड दर्ज करें।
  • सभी जानकारी भरने के बाद लॉगिन के बटन पर क्लिक करें।

ब्राउचर/फ्लायर्स डाउनलोड करने की विधि 

  • सबसे पहले आपको Swamitva Scheme की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा।
  • यहाँ आने के बाद आपको आपको दाएं ओर Brochures/ Flyers का ऑप्शन दिखाई देगा। इस पर क्लिक करें।

Brochures Flyers

  • आप जैसे ही इस विकल्प पर क्लिक करेंगे आपके सामने सभी ब्राउचर एवं फ्लायर्स की सूची खुलकर आ जाएगी। यहाँ आपको सभी फाइल पीडीऍफ़ फॉर्मेट में मिलेगी।
  • इस के बाद आपको अपनी आवश्यकतानुसार दिए गए लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आप के सामने Brochures/ Flyers की फाइल पीडीएफ फॉर्मेट में खुलकर आ जाएगी।
  • इसके बाद बस अब आपको डाउनलोड के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप ब्राउचर एवं फायर डाउनलोड कर सकेंगे।

स्वामित्व योजना पोर्टल पर से महत्वपूर्ण फाइल डाउनलोड करने की प्रक्रिया 

  • सर्वप्रथम आपको Swamitva Scheme की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा।
  • यहाँ आने के बाद आपको Download का ऑप्शन दिखाई देगा। इस पर क्लिक करें।

Downloads

  • Download के ऑप्शन पर क्लिक करने के पश्चात आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको सभी डाउनलोड की सूची प्राप्त होगी।
  • यहाँ आपको अपनी आवश्यकता अनुसार दिए लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद अब आपके सामने एक पीडीएफ फाइल खुलकर आएगी।
  • इस प्रकार आप सभी महत्वपूर्ण डाउनलोड कर पाएंगे।

प्रॉपर्टी कार्ड डिस्ट्रिब्यूटेड रिपोर्ट कैसे देखें ?

  • सबसे पहले आपको Swamitva Scheme की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा।
  • यहाँ आने के बाद आपको Report का ऑप्शन दिखाई देगा। इस पर क्लिक करें।
  • रिपोर्ट के ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद अब आपको दिखाई दे रहे Property Card Distributed के ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • इसके बाद अब आपको अपने राज्य का ऑप्शन दिखाई देगा उस पर क्लिक करें।

Property Card Distributed Details

  • अब इस के बाद अपने जिला , तहसील/सब तहसील और गांव के दिए ऑप्शन पर क्लिक करें।
  • बस इतना करने के बाद अब आपके गांव की Property Card Distributed Details आपके सामने होगी।
  • Property Card Distributed Details में आपको Property Card ID, मालिक का नाम , पिता का नाम , कुल क्षेत्रफल , Built Area, Open Area और डिस्ट्रीब्यूशन डेट देख सकते है।
  • अब आप इस रिपोर्ट को प्रिंट या एक्सेल में डाउनलोड कर सकते है।

फाइनल मैप्स जनरेटेड रिपोर्ट्स कैसे देखें ?

  • सबसे पहले आपको Swamitva Scheme की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा।
  • यहाँ आने के बाद आपको आपको Report का ऑप्शन दिखाई देगा। इस पर क्लिक करें।
  • रिपोर्ट के ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद अब आपको दिखाई दे रहे Final Maps Generated (SOI) के ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • इस इस पर क्लिक करने के बाद अब आपको अपने राज्य का ऑप्शन दिखाई देगा उस पर क्लिक करें।

Final Maps Generated Reports

  • अब इस के बाद अपने जिला , तहसील/सब तहसील के दिए ऑप्शन पर क्लिक करें।
  • बस इतना करने के बाद अब आपके गांव की Final Map Generated Details आपके सामने होगी।
  • Final Map Generated Details में आपको गांव या क़स्बा के अनुसार स्टेटस दिखाई देगा।
  • अब आप इस रिपोर्ट को प्रिंट या एक्सेल में डाउनलोड कर सकते है।

डाटा प्रोसेसिंग कम्प्लेटेड रिपोर्ट्स देखने की विधि ?

  • सर्वप्रथम आपको Swamitva Scheme की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा।
  • यहाँ आने के बाद आपको Report का ऑप्शन दिखाई देगा। इस पर क्लिक करें।
  • रिपोर्ट के ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद अब आपको दिखाई दे रहे Data Processing Completed (SOI) के ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • इस इस पर क्लिक करने के बाद अब आपको अपने राज्य का ऑप्शन दिखाई देगा उस पर क्लिक करें।

Data processing details

  • अब इस के बाद अपने जिला , तहसील/सब तहसील के दिए ऑप्शन पर क्रमानुसार क्लिक करें।
  • बस इतना करने के बाद अब आपके गांव की Data Processing Details आपके सामने होगी।
  • Data Processing Details में आपको गांव या क़स्बा के अनुसार स्टेटस दिखाई देगा।
  • अब आप इस रिपोर्ट को प्रिंट या एक्सेल में डाउनलोड कर सकते है।

चुन्ना मार्किंग रिपोर्ट्स देखने की प्रक्रिया ?

  • सर्वप्रथम आपको Swamitva Scheme की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा।
  • यहाँ आने के बाद आपको Report का ऑप्शन दिखाई देगा। इस पर क्लिक करें।
  • रिपोर्ट के ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद अब आपको दिखाई दे रहे Chunna Marking Completed के ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • इस इस पर क्लिक करने के बाद अब आपको अपने राज्य का ऑप्शन दिखाई देगा उस पर क्लिक करें।

Chunna marking Details

  • अब इस के बाद अपने जिला , तहसील/सब तहसील के दिए ऑप्शन पर क्रमानुसार क्लिक करें।
  • बस इतना करने के बाद अब आपके गांव की Chunna Marking Details आपके सामने होगी।
  • Chunna Marking Details में आपको गांव या क़स्बा के अनुसार स्टेटस दिखाई देगा।
  • अब आप इस रिपोर्ट को प्रिंट या एक्सेल में डाउनलोड कर सकते है।

प्रॉपर्टी कार्ड प्रिपेयर्ड रिपोर्ट कैसे देखीं जाती है ?

  • सबसे पहले आपको Swamitva Scheme की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा।
  • यहाँ आने के बाद आपको Report का ऑप्शन दिखाई देगा। इस पर क्लिक करें।
  • रिपोर्ट के ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद अब आपको दिखाई दे रहे Property Card Prepared के ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • इस इस पर क्लिक करने के बाद अब आपको अपने राज्य का ऑप्शन दिखाई देगा उस पर क्लिक करें।

Property card prepared details

  • अब इस के बाद अपने जिला , तहसील/सब तहसील के दिए ऑप्शन पर क्रमानुसार क्लिक करें।
  • बस इतना करने के बाद अब आपके गांव की Property Card Prepared Details आपके सामने होगी।
  • Property Card Prepared Details में आपको गांव या क़स्बा के अनुसार स्टेटस दिखाई देगा।
  • अब आप इस रिपोर्ट को प्रिंट या एक्सेल में डाउनलोड कर सकते है।

इन्क्वारी प्रोसेसिंग रिपोर्ट देखने की विधि ?

  • इन्क्वारी प्रोसेसिंग रिपोर्ट देखने के लिए सर्वप्रथम आपको Swamitva Scheme की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा।
  • यहाँ आने के बाद आपको Report का ऑप्शन दिखाई देगा। इस पर क्लिक करें।
  • रिपोर्ट के ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद अब आपको दिखाई दे रहे Enquiry Process Completed (SOI) के ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • Enquiry Process Completed (SOI) ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद अब अपने राज्य का ऑप्शन दिखाई देगा उस पर क्लिक करें।

Enquiry Process Completed Report

  • अब इस के बाद अपने जिला , तहसील/ सब तहसील के दिए विकल्प पर क्रमानुसार क्लिक करें।
  • बस इतना करने के बाद अब आपके गांव की Enquiry Process Details आपके सामने होगी।
  • Enquiry Process Details में आपको गांव या क़स्बा के अनुसार स्टेटस दिखाई देगा।
  • अब आप इस रिपोर्ट को प्रिंट या एक्सेल में डाउनलोड कर सकते है।

ड्रोन सर्वे रिपोर्ट्स देखने की विधि ?

  • ड्रोन सर्वे रिपोर्ट देखने के लिए सर्वप्रथम आपको Swamitva Scheme की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा।
  • यहाँ आने के बाद आपको Report का ऑप्शन दिखाई देगा। इस पर क्लिक करें।
  • रिपोर्ट के ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद अब आपको दिखाई दे रहे Drone Survey Completed (SOI) के ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • Drone Survey Completed (SOI) ऑप्शन पर क्लिक करें।
  • क्लिक करने के बाद अब अपने राज्य का ऑप्शन दिखाई देगा उस पर क्लिक करें।

Drone Survey Details

  • अब इस के बाद अपने जिला , तहसील/ सब तहसील के दिए विकल्प पर क्रमानुसार क्लिक करें।
  • बस इतना करने के बाद अब आपके गांव की Drone Survey Completed Details आपके सामने होगी।
  • Drone Survey Completed Details में आपको गांव या क़स्बा के अनुसार स्टेटस दिखाई देगा।
  • अब आप इस रिपोर्ट को प्रिंट या एक्सेल में डाउनलोड कर सकते है।

डाटा एंट्री स्टेटस फॉर ड्रोन रिपोर्ट्स देखने की प्रक्रिया ?

  • डाटा एंट्री की रिपोर्ट्स देखने के लिए सर्वप्रथम आपको Swamitva Scheme की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा।
  • यहाँ आने के बाद आपको Report का ऑप्शन दिखाई देगा। इस पर क्लिक करें।
  • रिपोर्ट के ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद अब आपको दिखाई दे रहे Data Entry Status For Drone Report (State) के ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • Data Entry Status For Drone Report (State) ऑप्शन पर क्लिक करें।
  • क्लिक करने के बाद अब अपने राज्य का ऑप्शन दिखाई देगा उस पर क्लिक करें।

Data Entry Status For Drone Reports

  • अब इस के बाद अपने जिला , तहसील/ सब तहसील के दिए विकल्प पर क्रमानुसार क्लिक करें।
  • बस इतना करने के बाद अब आपके गांव की Data Entry Status For Drone Report आपके सामने होगी।
  • Data Entry Status For Drone Report में आपको गांव या क़स्बा के अनुसार स्टेटस दिखाई देगा।
  • अब आप इस रिपोर्ट को प्रिंट या एक्सेल में डाउनलोड कर सकते है।

इस लेख को अंत तक पढ़ने के लिए आपको बहुत बहुत धन्यवाद्। आशा करते है कि आपको सभी प्रश्नो का जवाब मिल गया होगा। इस प्रकार की सभी सरकारी योजनाओ की जानकारी (हिंदी में) के लिए हमारी वेबसाइट Latest Scheme से जुड़ें रहें। धन्यवाद 

Rohit Singh

Web Developer SEO Expert Wordpress

You may also like...